ads banner
ads banner
हॉकी न्यूज़अन्य कहानियांआखिर क्यों, हॉकी महासंघ के पूर्व अध्यक्ष Narinder Batra को एक साथ...

आखिर क्यों, हॉकी महासंघ के पूर्व अध्यक्ष Narinder Batra को एक साथ छोड़ने पड़े थे 3 पद

Field Hockey News in Hindi

हॉकी न्यूज़ - आखिर क्यों, हॉकी महासंघ के पूर्व अध्यक्ष Narinder Batra को एक साथ छोड़ने पड़े थे 3 पद

अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के पूर्व अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा (Narinder Batra) ने अपने 3 पदों से एक साथ इस्तीफा दे दिया था पहला तो अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा साथ ही अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति इस्तीफा और अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था.

नरिंदर बत्रा (Narinder Batra) को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक संघ के अध्यक्ष पद से इस्तीफा देना पड़ा था जब 25 मई को दिल्ली उच्च न्यायालय ने हॉकी इंडिया में आजीवन सदस्य वाला पद खत्म कर दिया था. बत्रा ने साल 2017 में हॉकी इंडिया के आजीवन सदस्य के रूप में कि आईओए यानी कि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक एसोसिएशन का चुनाव लड़ा था और जीता भी था.

नरेंद्र बत्रा (Narinder Batra) ने अपने तीनों अलग-अलग पदों से पत्रों के जरिए आधिकारिक रूप से इस्तीफा दिया था.

बत्रा ने अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ के कार्यकारी बोर्ड को लिखा कि मैं अपने निजी कारणों से एफआईएच के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं.

Narinder Batra का हॉकी महासंघ से इस्तीफा काफी हैरानी वाला 

नरिंदर बत्रा की आईओसी सदस्यता उनकी आईओए अध्यक्षता से जुड़ी थी लेकिन अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ से इस्तीफा देना काफी हैरानी भरा रहा था क्योंकि उन्होंने कुछ दिन पहले ही कहा था कि अब वह विश्व हॉकी संस्था में अपने काम पर ध्यान लगाना चाहते हैं.

आपको बता दें कि नरिंदर बत्रा (Narinder Batra) कोर्ट के आदेश के बाद भी आईओए के अध्यक्ष के तौर पर काम कर रहे थे, वह लगातार आईओए की बैठकों में हिस्सा ले रहे थे, जिसे देखते हुए पूर्व ओलंपियन असलम शेर खान ने कोर्ट में याचिका दाखिल की, जिसकी सुनवाई करते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय ने नरिंदर बत्रा को तुरंत प्रभाव से अध्यक्ष पद के तौर पर काम करने से मना कर दिया था.

पूर्व ओलंपियन असलम शेर खान के वकील ने पीटीआई को बताया था यह मानना की सुनवाई थी क्योंकि बत्रा इसी कोर्ट के पुराने आदेश के बाद भी अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक एसोसिएशन अध्यक्ष के तौर पर बैठकों में हिस्सा ले रहे थे और काम कर रहे थे.

आपको बता दें कि पूर्व अंतरराष्ट्रीय हॉकी संघ के अध्यक्ष नरिंदर बत्रा पर सीबीआई की जांच भी चल रही है, सीबीआई ने हॉकी इंडिया के कोष से 35 लाख रुपए के दुरुपयोग के मामले में नरेंद्र बत्रा के खिलाफ अप्रैल में जांच शुरू कर दी थी उन्हें शिकायत मिली थी कि हॉकी इंडिया के कोष से 35 लाख रुपए का इस्तेमाल उनके निजी फायदे के लिए किया गया है.

 

 

Aditya Jaiswal
Aditya Jaiswalhttps://bestfieldhockeynews.com/
फील्ड हॉकी आइस रिंक या घास के मैदान पर खेला जाने वाला खेल है। यह फ़ुटबॉल के खेल के समान है, लेकिन गेंद को खिलाड़ी की छड़ी से ही स्थानांतरित किया जा सकता है। प्रति टीम में 11 खिलाड़ी होते हैं, और प्रत्येक टीम में एक समय में मैदान पर छह खिलाड़ी होते हैं।

फील्ड हॉकी लेख

नवीनतम हॉकी न्यूज़