ads banner
ads banner
हॉकी न्यूज़जूनियर इंटरनेशनल फील्ड हॉकी न्यूजउत्तम सिंह जिन्होंने जूनियर टीम को पहुंचाया बुलंदियों पर

उत्तम सिंह जिन्होंने जूनियर टीम को पहुंचाया बुलंदियों पर

Field Hockey News in Hindi

हॉकी न्यूज़ - उत्तम सिंह जिन्होंने जूनियर टीम को पहुंचाया बुलंदियों पर

Image Source : Google

जूनियर पुरुष हॉकी टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए जीत दर्ज की है. जूनियर एशिया कप में भारतीय टीम का प्रदर्शन अच्छा रहा है. चौथी बार भारतीय टीम ने इस कप को अपने नाम किया है. वहीं टीम के कप्तान उत्तम सिंह ने अपने अनुभव को साझा किया है. टीम के स्वदेश लौटने पर उत्तम ने मीडिया से बात की है. उन्होंने कहा की, ‘हॉकी के अलावा मैं महेंद्र सिंह धोनी का बहुत बड़ा फैन हूँ. महेंद्र सिंह धोनी ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें हमने कभी शिकन और चिंतित नहीं देखा है.’

उत्तम सिंह ने कड़े संघर्षों से पाया मुकाम

वहीं उन्होंने आगे कहा कि, ‘कांटे के मुकाबले में तो दर्शकों पर भी दबाव आजाता है लेकिन महेंद्र सिंह धोनी ऐसे खिलाड़ी हैं वह दबाव महसूस नहीं करते हैं. उन्होंने देखकर अन्य खिलाड़ी भी दबाव महसूस नहीं करते हैं. इसके साथ ही उनके मन में क्या चल रहा है वह किसी को भी पता नहीं चलने देते हैं. इतना ही नहीं वह विरोधियों को भी पता नहीं चलने देते हैं कि उनके मन में क्या गतिविधियाँ चल रही है.’

बता दें नौ साल बाद एशिया कप का आयोजन हुआ था. जिसे भारतीय टीम ने शानदार तरीके से जीत दर्ज की थी. इस एशिया कप में भारतीय टीम के प्रदर्शन पर उन्होंने कहा कि, ‘एशिया कप 2015 में पिछली बार बी हमने शानदार प्रदर्शन किया था. वहीं पाकिस्तानी टीम के खिलाफ हमारा प्रदर्शन शानदार रहा है. इस बार हमने पहले से सोचा हुआ था कि पाकिस्तानी टीम से आगे ही निकलना है.’

महेंद्र सिंह धोनी से मिलती है प्रेरणा

उत्तम सिंह ने आगे कहा कि, ‘पूल चरण में पाकिस्तान के खिलाफ हमने शानदार प्रदर्शन किया था. और उस मैच में हमने कोई दबाव महसूस नहीं किया था. हम जानते थे कि हम सेमीफाइनल में प्रवेश करने वाले हैं. बता दें खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन किया था. इसके साथ ही खिलाड़ियों को हमने कोई दबाव महसूस नहीं किया था. वहीं हमारे खिलाड़ियों ने पेनल्टी कॉर्नर डिफें पर काफी मेहनत की थी.’

ओमान के सालाह में जूनियर एशिया कप का आयोजन होने वाला है. इस बता दें इस टूर्नामेंट के लिए उत्तम सिंग को कप्तान चुना गया है. बता दें उत्तम सिंह करियर करमपुर हॉकी स्टेडियम में शुरू हुआ था. स्क्रॉल की रिपोर्ट में उत्तम बताते हैं कि यह सफर काफी संघर्ष वाला रहा है. मुझे हॉकी के जूते खरीदना भी मुश्किल था. खेलें के लिए जूते नहीं थे वहीं जुगाड़ कर मिलते थे.

उत्तम सिंह ने बिना जूते के भी की प्रैक्टिस

उन्होंने कहा कि एकेडमी वाले ही मुझे पढाते थे और मेरा ध्यान रखते थे. इसके साथ ही जब मैं साईं लखनऊ में पहुंचा तो सब समस्या का हल होने लगा और फिर मेरा हुनर भी निखरने लगा था. इसके साथ ही उन्होंने काफी सारी समस्या का हल भी किया था.

उत्तम सिंह ने करियर में सबसे चुनोती के बारे में बताया कि मैं साल 2019 एम् भारत के शिविर में आया था तब मुझे लगा था कि यह काफी अच्छा रहा है. मैने हमेशा पर मेहनत पर बल दिया था. इसके साथ ही कभी मुझे निराशा भी हुई थी क्योंकि मेरा चयन टीम के लिए नहीं हो पा रहा था. इतनी मेहनत के बाद भी सफलता हासिल नहीं होती तो दिल में निराशा पनपती ही है.

बता दें ओमान के सालाह में जूनियर पुरुष एशिया कप का आयोजन होने वाला है. इसका आयोजन 23 मई से एक जून तक किया जाएगा. वहीं हॉकी इंडिया ने इसके लिए पूरी कमर कस ली है. आगामी जूनियर पुरुष एशिया कप के लिए टीम का चयन कर लिया गया है. इसके लिए 18 सदस्यों की टीम की घोषणा हॉकी इंडिया ने कर दी है. इस एशिया कप को मलेशिया में होने वाले विश्वकप के मद्देनजर से भी देखा जा रहा है. अगर इसमें टीम जीतती है तो सीधे इसमें प्रवेश मिल सकता है.

ओमान के सालाह में जूनियर पुरुष एशिया कप का आयोजन होने वाला है. इसका आयोजन 23 मई से एक जून तक किया जाएगा. वहीं हॉकी इंडिया ने इसके लिए पूरी कमर कस ली है. आगामी जूनियर पुरुष एशिया कप के लिए टीम का चयन कर लिया गया है. इसके लिए 18 सदस्यों की टीम की घोषणा हॉकी इंडिया ने कर दी है. इस एशिया कप को मलेशिया में होने वाले विश्वकप के मद्देनजर से भी देखा जा रहा है. अगर इसमें टीम जीतती है तो सीधे इसमें प्रवेश मिल सकता है.

जूनियर पुरुष एशिया कप के लिए टीम चयनित

बता दें इस वर्ष दिसम्बर में मलेशिया में ही जूनियर पुरुष विश्व कप का आयोजन किया जाना है. यह टूर्नामेंट विश्वकप के लिए क्वालीफाइंग टूर्नामेंट होने वाला है. बता दें इस टूर्नामेंट में भारत को पूल ए में रखा गया है. जिसमें पाकिस्तान, जापान, थाईलैंड और चीनी टीम को रखा गया है.

वहीं पूल बी कि बात करें तो उसमें मलेशिया, कोरिया, ओमान, बांग्लादेश और उज्बेकिस्तान को रखा गया है. बता दें इस टीम का कप्तान भी उत्तम सिंह को बनाया गया है. वहीं उपकप्तान बॉबी सिंह धामी को बनाया गया है. इस टीम टीम में अनुभवी खिलाड़ियों का बेजोड़ तालमेल है. इसके साथ ही इसमें वहीं टीम शामिल है जो जूनियर विश्वकप और सुलतान जोहोर कप में खेले थे. भारत ने इसी टीम के साथ सुल्तान जोहोर कप को जीता था.

इंडिया टीम के कप्तान उत्तम सिंह होंगे जो इस टीम की का नेतृत्व करेंगे. उत्तम सिंह ने ही 2021 में भारत के जूनियर विश्व कप में भाग लिया था और साथ ही 2022 की शुरुआत में जकार्ता में आयोजित एशिया कप 2022 में सीनियर टीम के लिए डेब्यू किया था. बॉबी सिंह धामी को टीम का उपकप्तान नियुक्त किया गया है.

टीम के कोच ने कहा कि, ‘यह जूनियर हॉकी कैलंडर में एक महत्वपूर्ण और बहुत प्रतिष्ठित टूर्नामेंट है और हम किसी भी  टीम के खिलाफ अपने अभियान की शुरुआत करने के लिए काफी उत्साहित हैं.’

उन्होंने आगे कहा कि, ‘यह हम सभी के लिए यह बहुत गर्व का पला था क्योंकि हमने 2014 के बाद से इस ट्रॉफी को अपने नाम नहीं किया था.’ उत्तम सिंह के बारे में बात करें तो इस साल उन्होंने एशिया कप में हिस्सा लिया था. उन्होंने मात्र 10 साल कि उम्र में ही हॉकी खेलना शुरू किया था. और उन्होंने करमपुर हॉकी स्टेडियम से अपने करियर की शुरुआत की थी.

उत्तम सिंह भारतीय टीम युवा खिलाड़ियों में से एक हैं जो काफी प्रतिभावान हैं. उन पर टीम को सुल्तान जोहोर कप जीताने में अहम भूमिका निभाई हैं.

Yash Sharma
Yash Sharmahttps://bestfieldhockeynews.com/
फील्ड हॉकी एक आयताकार मैदान पर 11 खिलाड़ियों की दो टीमों द्वारा खेला जाने वाला खेल है, जिसका उद्देश्य गेंद को विरोधी टीम के गोल में डालना है।

फील्ड हॉकी लेख

नवीनतम हॉकी न्यूज़